MS PowerPoint 2003 Feature माइक्रोसॉफ्ट पॉवरपॉइंट पूरी जानकारी

MS PowerPoint 2003 एमएस ऑफिस के प्रोग्राम में से एक है। एमएस ऑफ़िस के अंतर्गत चार प्रोग्राम आते हैं।

1. Microsoft Word 2. MS PowerPoint 3. Microsoft Excel 4. Microsoft Access इत्यादि।

इनमे से MS PowerPoint 2003 एक ऐसा Program है। जो MS Office के सभी Program में से बिलकुल अलग है।

क्योंकि यह Program Picture, Text, और Voice को आकर्षक रूप से प्रस्तुत करता है। इस Program की विशेषता यह है।

कि आप अपने उद्देश्य यानि कल्पना को चाहे वह business से सम्बंधित हो जैसे- कंपनी की नयी खोज या नियम के बारे में बताना।

या शिक्षा से सम्बंधित हो जैसे- विद्दार्थी को नक्शा बनाकर समझाना। या किसी institute से सम्बंधित हो जैसे- institute की progress आदि को सामने वाले के सामने प्रस्तुत करना।

तो यह प्रोग्राम उस उद्देश्य को picture text और voice के रूप में आकर्षक तरीके से विस्तार के साथ इस तरह प्रस्तुत करता है।

कि सामने वाला प्रभावित हो जाता है। और उसका दिल इन सभी बातों को मानने के लिए तैयार हो जाता है।

यही कारण है कि यह प्रोग्राम अपनी विशेषता के लिए असाधारण importance रखता है।

MS PowerPoint 2003 खोलने का तरीका

MS PowerPoint 2003 Feature को खोलने के लिए सबसे पहले Start Button पर क्लिक करके Program ऑप्शन पर क्लिक करें।

आपके सामने प्रोग्राम की सूची नज़र आएगी। जिसमे Microsoft Power Point पर क्लिक करें।

MS PowerPoint 2003

इस स्क्रीन में जो Task pane दिखाई दे रहा है। इसमें सबसे नीचे create a new presentation… पर क्लिक करें।

new presentation नाम का task pane दिखाई देगा। जिसमे फाइल तैयार करने से सम्बंधित निम्नलिखित ऑप्शन हैं।

1- Blank Presentation : MS PowerPoint 2003 में इसके द्वारा blank slide तैयार कर सकते हैं।

इस पर क्लिक करते ही Task pane में blank slide की लिस्ट दिखाई देगी। इन में जिस पर क्लिक करेंगे उसी अंदाज़ की स्लाइड पृष्ठ में आ जाएगी।

2- From design template : इसके द्वारा अपने उद्देश्य से सम्बंधित सिर्फ बना बनाया आकर्षक डिज़ाइन का सिलेक्शन कर सकते हैं।

3- From auto content wizard : इसके द्वारा अपने उद्देश्य से सम्बंधित बना बनाया सभी विशेषताओं से युक्त हैडिंग और आकर्षक डिज़ाइन का सिलेक्शन कर सकते हैं।

तरीका

इस पर क्लिक करने पर एक डायलॉग बॉक्स खुलेगा। इसमें next button पर क्लिक करें। नीचे दिखाया गया डायलॉग बॉक्स खुलेगा।

MS PowerPoint 2003

इस डायलॉग बॉक्स में उस बटन पर क्लिक करें। जिससे सम्बंधित फाइल तैयार करनी है।

उदाहरण के लिए General, Corporate, Project, Sales/Marketing आदि पर क्लिक करते ही इस से सम्बंधित सूची दिखाई देगी।

इस सूची में किसी एक का सिलेक्शन करके next button पर क्लिक करें। एक और डायलॉग बॉक्स खुलेगा जिसमे फाइल दिखाई देने के अंदाज़ से सम्बंधित ऑप्शन उपस्थित हैं।

अब इनमे से जिसके radio button का चयन करेंगे फाइल उसी अंदाज़ में दिखाई देगी। Next button पर क्लिक करते ही एक और डायलॉग बॉक्स खुलेगा।

पहले बॉक्स में presentation से सम्बंधित heading लिखिए और दुसरे बॉक्स में वह शब्द लिखें जिसे आप हर पृष्ठ में लाना चाहते हैं।

उसके बाद next button पर क्लिक करके Finish button पर क्लिक करें। बना बनाया डिज़ाइन पृष्ठ में इस तरह दिखाई देगा।

MS PowerPoint 2003

अब इसमें आप अपनी इच्छानुसार जो कुछ लिखना चाहें क्लिक करके लिख सकते हैं।

नोट- इस प्रोग्राम में फाइल को presentation और पृष्ठ  को स्लाइड कहते हैं।

4- Open an existing presentation : इसके द्वारा सेव किये हुए presentation को खोल सकते हैं।

Microsoft Power Point 2003 के भागों का नाम 

MS PowerPoint 2003 में अब हम स्क्रीन के सभी भागों और उसके काम को विस्तार के साथ बता रहे हैं।

MS PowerPoint 2003

Title Bar टाइटल बार – MS PowerPoint 2003

इस में बायीं तरफ प्रोग्राम और फ़ाइल का नाम होता है। और दायीं तरफ Minimize, Maximize, Close बटन होते है।

Minimize:- इसके द्वारा MS PowerPoint 2003 Feature प्रोग्राम को छोटा करके icon के रूप में टास्क बार में रखते हैं।

फिर दुबारा उस आइकॉन पर क्लिक करके program को खोलते हैं। इस तरह हम कई प्रोग्राम को छोटा करके टास्क बार में रख सकते है।

Maximize:- MS PowerPoint 2003 में इसके द्वारा प्रोग्राम को पुरे स्क्रीन में फैला सकते हैं।

Close:- MS PowerPoint 2003 इसके द्वारा खुले हुए प्रोग्राम को बंद कर सकते है।

Standard Tool Bar स्टैण्डर्ड टूलबार – MS PowerPoint 2003

इसमें विभिन्न प्रकार के आप्शन आइकॉन के रूप में होते है। उदाहरण के लिए Print, Save, Open, New आदि।

Standard toolbar

1- नयी फाइल तैयार करने के लिए।

2- Save की हुई फाइल खोलने के लिए।

3- खुली हुई फाइल सेव करने के लिए।

6- Current file को प्रिंट करने के लिए।

7- प्रिंट करने से पहले पेज को देखने के लिए।

8- Spelling check करके उसे correct करने के लिए

10- सेलेक्ट किये हुए टेक्स्ट या ऑब्जेक्ट को कट करके क्लिप बोर्ड में रखने के लिए। ताकि जब इसे लाना चाहें Ctrl+V के द्वारा ला सकें।

11- Copy करके क्लिपबोर्ड में रखने के लिए।  ताकि जब इसे लाना चाहें Ctrl+V के द्वारा ला सकें।

12- क्लिपबोर्ड में राखी चीज़ को पेज में लाने के लिए।

13- इसके द्वारा सेलेक्ट किये हुए टेक्स्ट या ऑब्जेक्ट के रंग और लाइन की मोटाई को दुसरे टेक्स्ट या ऑब्जेक्ट में ला सकते हैं।

तरीका-

सबसे पहले उस टेक्स्ट या ऑब्जेक्ट को सेलेक्ट करें जिसके रंग और लाइन की मोटाई को लाना है।

इसके बाद इस बटन पर क्लिक करें। कर्सर ब्रश के रूप में बदल जायेगा। इसके बाद उस टेक्स्ट या ऑब्जेक्ट पर क्लिक करें जिसमे लाना है।

14- सबसे अंत में जो भी कार्य आपने किया है उसे ख़त्म करके पिछले हालत में आने के लिए।

15- ऊपर वाले ऑप्शन के द्वारा ख़त्म किये गए काम को वापस लाने के लिए।

16- इसके द्वारा चार्ट के रूप में टेबल बना सकते हैं।

17- इसके द्वारा डायरेक्ट टेबल बना सकते हैं।

18- इसके द्वारा टेबल आदि ला सकते हैं। इसका वर्णन view menu में टूलबार ऑप्शन के अंतर्गत है।

19- इसके द्वारा आप अपनी स्लाइड में दूसरी स्लाइड या दूसरी फाइल या इंटरनेट की हाइपरलिंक को प्रस्तुत कर सकते हैं।

20- इसके द्वारा स्लाइड के लेख को outline view window में दर्शा सकते हैं। और छुपा सकते है।

21- इसके द्वारा स्लाइड के लेख की formatting को outline view window में दर्शा सकते हैं। और छुपा सकते हैं।

23- इसके द्वारा current फाइल को रंगीन से grey scale और grey scale से रंगीन में कर सकते हैं।

24- इससे पेज को ज़ूम यानी चोटा या बड़ा कर सकते है।

35- इस ऑप्शन से आप इनरनेट के माध्यम से हेल्प ले सकते हैं।

Formating bar

Formatting Tool Bar फॉर्मेटिंग टूलबार – MS PowerPoint 2003

इसमें font style, font size, paragraph की setting और Font Colour आदि के सुविधा है।

Slide view Window :- यह असली पृष्ठ है इसी में काम करते हैं।

Note window : इस विंडो में स्लाइड से सम्बंधित नोट लिखते हैं।

View Button : इसके द्वारा स्लाइड विंडो को विभिन्न अंदाज़ में बड़ा छोटा कर सकते हैं।

Ruler:- पट्टी से Tab, Paragraph, Page की सेटिंग का पता चलता है।

Scroll bar:– इसके द्वारा पेज को ऊपर, नीचे, दायें, बाएं खिसका सकते है।

Drawing tool bar

Drawing Tool Bar ड्राइंग टूलबार

इस tool bar में text और box से सम्बंधित कई आप्शन उपस्थित हैं। जिनसे text और box में विभिन्न प्रकार के बदलाव कर सकते है।

इस पट्टी में बायीं तरफ Draw पर Click करने से एक चार्ट दिखेगा। जिसमे निम्नलिखित आप्शन हैं।

Group :- इस option के द्वारा कई ऑब्जेक्ट को सेलेक्ट करके ग्रुप बना सकते हैं।

Ungroup :- इस option के द्वारा ग्रुप किये गए ऑब्जेक्ट को अलग कर सकते हैं।

Regroup: – इस option के द्वारा अनग्रुप किये गए ऑब्जेक्ट आदि  को दोबार group बना सकते हैं।

Order

इस से आप पेज में बने ऑब्जेेक्ट ड्रॉइंग इत्यादि को आगे पिछे कर सकते हैं। इसके अंतर्गत निम्नलिखित option हैं।

1. Bring Front tow : – इस आप्शन के द्वारा सेलेक्ट किये गए ऑब्जेक्ट को ऊपर ला सकते हैं।

2. Send tor Beck : – इस आप्शन के द्वारा सेलेक्ट किये गए ऑब्जेक्ट को निचे ला सकते हैं।

3. Bring Forward tow : – इस आप्शन के द्वारा सेलेक्ट किये गए ऑब्जेक्ट को क्रम से एक एक करके ऊपर ला सकते हैं।

4. Send Backward : – इस आप्शन के द्वारा सेलेक्ट किये गए ऑब्जेक्ट को क्रम से एक एक करकेनिचे कर सकते हैं।

5. Bring Forward tow of text : – इस आप्शन के द्वारा सेलेक्ट किये गए ऑब्जेक्ट को text के ऊपर ला सकते हैं।

6. Send Tow Behind Text : –  इस आप्शन के द्वारा सेलेक्ट किये गए ऑब्जेक्ट को text के निचे कर सकते हैं।

Grid – इसके द्वारा पृष्ठ में grid line ला सकते हैं।

Nudge : – Select किये गए ऑब्जेक्ट को ऊपर निचे दायें बाएं कर सकते हैं।
नोट- यही कार्य Arrow Key के द्वारा भी कर सकते हैं।

Align and Distribute: – इस आप्शन पर क्लिक करते ही एक पट्टी खुलेगी। जिसमे सबसे निचे वाले आप्शन Relative to page पर क्लिक करने के बाद ही ऊपर के आप्शन शुरू होंगे।

जिसके द्वारा सेलेक्ट किये गए ऑब्जेक्ट को पृष्ठ के ऊपर निचे दायें बाएं कर सकते हैं।

Rotate or Flip:- इसके द्वारा सेलेक्ट किये गए object को अपनी इच्छा के अनुसार घुमा सकते हैं।

Text wrapping – इसका उपयोग लेख में ऑब्जेक्ट को अपनी इच्छा के अनुसार रखने के लिए करते हैं।

ताकि लेख ऑब्जेक्ट के चरों तरफ किस अंदाज़ में आये, उसका उपयोग करते हैं।

Reroute Connector

दो ऑब्जेक्ट के बीच लम्बी connector line को स्वयं अपने अनुसार शॉर्टकट में करके छोटा कर देगा।

नोट- यह उस समय चालू होगा जब हम drawing canvas area के अंदर दो या दो से अधिक बॉक्स बना कर उसे connector line के द्वारा connect करेंगे।

तरीका:-  drawing tool bar से किसी भी ऑब्जेक्ट को सेलेक्ट करने पर पेज में कटी कटी लाइन वाला बॉक्स दिखाई देगा।

जिसे drawing canvas area कहते हैं। इस बॉक्स में right click करने से आप्शन के एक पट्टी खुलेगी।

जिसमे show drawing canvas tool bar पर क्लिक करने से drawing canvas नाम के टूलबार आजायेगा।

उसमे उपस्थित आप्शन के द्वारा canvas area की setting कर सकते हैं।

Edit Point – इसके द्वारा लाइन को अपने इच्छानुसार मोड़ सकते हैं।

Change Auto Shape:- इस आप्शन के द्वारा सेलेक्ट किये गए बॉक्स को विभिन्न डिज़ाइन में बदल सकते हैं।

Set Autosahpe Defaults – बॉक्स रंग भर कर इस option पर click करने से अब  जब भी बॉक्स बनायेंगे हमेशा वही रंग आएगा।

AutoShapes  – इस पर क्लिक करने से अलग अलग shape वाले नाम से सम्बंधित एक पट्टी खुलेगी।

जिसमे अलग अलग शेप से सम्बंधित बने बनाये डिज़ाइन उपस्थित हैं। इनमे से जिस sahpe पर क्लिक करके पेज में ड्रा करेंगे तो उसी रूप में ऑब्जेक्ट तैयार हो जायेगा।

Taskbar टास्क बार – MS PowerPoint 2003

इस पट्टी में बायीं ओर Start button होता है। जिसके द्वारा हम MS PowerPoint 2003 Feature प्रोग्राम खोल सकते हैं।

और खुले हुए प्रोग्राम को minimize करके आइकॉन के रूप में टास्कबार में रख सकते हैं।

और दोबारा उस आइकॉन पर क्लिक करके खोल सकते हैं। इसी पट्टी में दायीं ओर घड़ी होती है जिस पर डबल क्लिक करके समय और तिथि बदल सकते हैं।

नोट- एक से अधिक टेक्स्ट बॉक्स को link करने और बॉक्स को विभिन्न दिशा में करने के लिए। निम्नलिखित टूलबॉक्स टूल का उपयोग करते हैं।

अगर टेक्स्ट बॉक्स बनाने पर यह टूल न दर्शाये तो View Menu में Toolbar आप्शन के अंतर्गत टेक्स्ट बाक्स पर क्लिक करके के टूल को चालू कर सकते हैं।

Menu bar

MS PowerPoint 2003 में इस पट्टी में विभिन्न मेनू होते हैं। सभी मेनू के अंतर्गत कई आप्शन होते हैं।

जिसको माउस के द्वारा क्लिक करके चला सकते हैं। सभी मेनू का विस्तार अगली पोस्ट में ध्यानपूर्वक अध्यन करें।

Leave a Comment