Missing Titan Submarine 2023: लापता टाइटन पनडुब्बी का रहस्यमय ढंग से गायब होना

आज एक ऐसे रहस्य के बारे में जानकारी देने के लिए यहाँ समर्पित हैं जिसका ज़िक्र हर किसी की जुबान पर एक प्रश्न चिन्ह बना हुआ है। तो आज एक ऐसी Missing Titan Submarine 2023 के बारे में चर्चा करेँगे जो समुद्र के अन्दर Titanic को देखने के लिए बनाया गया था।

Missing Titan Submarine 2023

Ocean Gate की Titan Submarine ने अपना सफ़र कनाडा के St John’s Port से शुरू किया जिस लोकेशन से इसको ओसियन के अन्दर ड्राइव करना था। St John’s से 700 मीटर दूर नार्थ अटलांटिक शिप रैक भी मौजदू है। Saturday 17th June 2023 को ये सफ़र शुरू किया गया और प्लान के मुताबिक अगले दिन सन्डे को सबुह 8 बजे टाइटन को पानी मे उतारा जाना था।

आप को यहाँ बताते चलें कि dive से पहले टाइटन मे एक मसला नोटिस किया गया था। लेकिन उसके बावजूद भी अपनी जान दाव पर लगाकर इसको ओसियन मे उतार दिया गया वो क्या मसला था और आखिर पता होने के बावजूद भी ये खतरा क्यूँ मोल लिया गया।

Titan Submarine का Mission भविष्य की खोज

दोस्तों बताते चलें कि इस सफ़र मे कुल 5 लोग शामिल थे जिसमे एक्शन एविएशन के फाउंडर हामिश हार्डिंग भी मौजदू थे। इन्होने जेफ्फ बेजोस के साथ स्पेस मे भी ट्रेवल किया था, दुसरे नबंर पर Stockton Rush जो
ओसियन गेट के CEO भी थे ये अमेरिकन कंपनी ओसियन टूरिज्म के लिए सबमर्सिबर प्रोवाइड करती है।

सबमरीन मे मौजदू एक और शख्स 77 साल के पॉल हेनरी भी थे जिन्होंने पहले भी टाइटैनिक को विजिट किया था। ये शिप रैक के एक्सपर्ट थे और इन्हें टाइटैनिक के बिखरे हुए पार्ट के बारे मे बहुत जानकारी थी। और आखिर मे पाकिस्तानी बिजनेसमेन शहजादा दाउद और अपने बेटे सुलेमान के साथ इसी सब्मरिन का हिस्सा थे।

17th june को dive करने से पहले Hamish Harding ने इन्टरनेट पर अपना आखरी पोस्ट किया था उनका कहना था कि बहुत ठण्ड मौसम की वजह से उनकी dive में देर हो गयी है। कल सुबह को जब थोड़े समय के लिए मौसम बेहतर होगा तो हम dive कर जायगें।

Titan की खोज: Missing Titan Submarine 2023

ये 5 लोग अपना शौक पूरा करने के लिए जो बहुत चर्चित और इतिहासिक है उस टाइटैनिक का मलबा देखने जा रहे थे। 1912 मे डूबने के बाद अगले कई सालों तक इसको तलाश करने की कोशिशें जारी रही। लेकिन अटलांटिक ओसियन की हार्ड कंडीशन की वजह से ये काम आसान नहीं था।

Missing Titan Submarine 2023
Credit Image: wikipedia.org

फिर 1985 मे जाकर आखिरकार ओसियन की तह पे टाइटैनिक का मलबा मिल ही गया। टाइटैनिक अपने पीछे इतने सवालात छोड़ गया कि अब इनके जवाब ढूँढने का वक्त आ चुका था। दर्जनों कोशिशें की गयी जिस मे अलग अलग मुल्कों के एक्स्पर्ट और रिसर्च वालों ने टाइटैनिक शिप रैक का रुख किया।

जिसमे मशहूर फिल्म मेकर James Cameron ने 1995 मे टाइटैनिक के मलबे के दर्जनों दौरे किये और फिर 1997 मे टाइटैनिक Movie बनाया गया। जो भी रही सही कसर बाकी थी उसको टाइटैनिक Movie ने पुरी कर दी। इसने दुनिया में इतनी धूम मचाई कि अब टाइटेनिक मलबे को खुद जाकर देखना करोड़ों लोगों का सपना बन गया है। यानी ये काम अब सिर्फ रिसर्च के मकसद के लिये महदूद नहीं बल्कि समुद्री पार्क साईट पर टूरिस्ट जाना शुरू करदे।

समंदर का प्रेशर: Missing Titan Submarine 2023

कहा जाता है कि ओसियन की गहराई तक जाना स्पेस मे जाने से ज्यादा खतरनाक है और इसकी सबसे बड़ी वजह है पानी का प्रेसर। Titanic Ship Rack समदंर की सतह से 4000 मीटर निचे है इस गहराई को Imagin करना हो तो आप बर्जु खलीफा को देखें और समझ लें Titanic का मलबा समदंर मे करीब 5 बार बर्जु खलीफा की ऊँचाई जितना निचे है।

इस गहराई मे पानी का प्रेशर 5800 PSI होता है ये उतना ही प्रेशर होगा कि इन्सान के पुरे जिस्म मे नही सिर्फ एक Sqire इंच के हिस्से पर एक पुरे हाथी को खड़ा कर दिया जाये तो इससे अन्दाज़ा लगा लें कि एक Submarine मे कितने Squire Inch होंगे और उसपर कितना ज्यादा प्रेशर पड़ता होगा।

Missing Titan Submarine 2023 की खोज और बचाव प्रयास

खैर सन्डे 18th June 2023 को 12 बजे Missing Titan Submarine 2023 का सफ़र स्टार्ट हुआ नॉर्मली टाइटैनिक तक पहुँचने मे 2 घंटे लगते हैं। लेकिन एक घंटा 45 मिनट के बाद ही Mothership पोल्लर प्रिसं जो कि ऊपर इंतज़ार कर रही थी।

उनका सबमरीन से राबता टूट गया अगर 2 घंटे टाइटैनिक तक पहुँचने मे लगने थे तो सिर्फ 15 मिनट पहले राबता टूटने का मतलब है कि सबमरीन टाइटैनिक के काफी करीब पहुँच चुकी होगी समन्दर की इस गहराई मे सूरज की रौशनी का पहुंचना नामुमकिन है और यहाँ पर हर वक्त बहुत अंधेरा होता है।

इतनी गहराई मे Wirless सिग्नल का टूटना एक नार्मल बात होती है। अतः इस बात को पहले ज्यादा गंभीर नहीं लिया गया ये पूरा ट्रिप टोटल 7 घंटो का था 12 बजे से लेकर शाम को 7 बजे तक इनको वापिस लौटना था। लेकिन जब शाम 7 बजे तक भी टाइटन से कोई राबता ना हुआ और नहीं वो वापिस लौटे। तो अब ऊपर इंतज़ार कर रही मदरशिप मे मौजदू लोगों के पसीने छूटना शुरू हो गये।

Canadian Research Vessel Polar Prince ने टाइटन की तलाश शुरू करदी। फिर 9.40 मिनट पर उन्होंने US Coast Guard से राबता करके मदद की गुज़ारिश की अगले दिन मंडे को US और Canadian शिप और प्लेन ने पुरे एरिया मे एक प्रॉपर सर्च ऑपरेशन शरूु कर दिया। उन्होंने सिर्फ समदंर की सतह पर ही नहीं बल्कि दुसरी सब्मरिन के माध्यम से पानी के अन्दर भी तलाश जरी रखी। इस एरिया मे जो कमर्शियल लोग थे उनको भी आर्डर दे दिया गया कि वो भी अपनी आँखे खोले रखें।

अगले दो दिन तक ये तलाश जारी रही लेकिन टाइटन का कोई अता-पता ना चल सका। लेकिन फिर एक उम्मीद की किरण नज़र आयी बधुवार 21 जनू को रात के 6 बजे सर्च टीम को पानी की गहरायिओं मे कुछ आवाजें सुनाई दी। ये आवाजें अंडर वाटर राडार की मदद से सुनी गयी थी फ़ौरन ROVS को आवाज़ के Direction में भेजा गया लेकिन इस बार भी टाइटन की कोई खबर ना मिली।

Missing Titan Submarine 2023 Lost Forever

अब Titan Submarine को हमेशा हमेशा के लिए खो देने का डर बढ़ता जा रहा था क्योंकि सबमरिन में जितना ऑक्सीजन था वो सिर्फ 96 घंटे या फिर 4 दिन तक का था। इस वक्त तक 4 में से 3 दिन गुजर गए थे लेकिन USA कनाडा और फ्रांस की सर्च टीम ने हिम्मत नहीं हारी।

गरुुवार 22 जनू को दोपहर 1 बजे ROVs को टाइटैनिक के मलबे के पास भेजा गया वहां पहुंच कर जो देखा
गया वाकई दिल दहला देने वाला था। 3.48 मिनट पर ROVS जो कि टाइटैनिक के मलबे के पास पहुंच चुकी थी उसमें टाइटन के पीछे का एक भाग टाइटैनिक से सिर्फ 1600 फीट दूर पड़ा हुआ दिखायी दिया।

जो देखने गई थी टाइटैनिक के मलबे को अब उसका मालबा ही पुरी दुनिया में हेडलाइंस बन गया। इसका सिर्फ एक ही मतलब है कि सबमरीन पानी का प्रेसर बर्दाश्त ना कर सकी और समदंर की गहराईयों में ही फट गई इस खबर ने परूी दुनिया में जैसे हलचल ही मचा दी।

ओशन गेट की सुरक्षा पर कई सवाल खड़े किए जाने लगे ओशन गेट के सीईओ स्टॉकटन रश जो कि खुद इस हादसे में अपनी जान गवा बैठे हैं उन्होने 2021 में कहा था कि वो जानते हैं के टाइटन को बनाते वक्त कुछ नियम तोड़े हैं क्योंकि उन्हें टाइटन को स्टील से नहीं बल्कि एविएशन ग्रेड कार्बन फाइबर से बनाया है पर वो इंडस्ट्रीज में कुछ नया इनोवेशन करना चाहते थे तभी तो स्टील को रिप्लेस करके कॉर्बन फाइबर का इस्तेमाल किया गया था।

पहली बार लॉन्च से पहले टाइटन को 5000 से 10000 PSI के प्रेसर पर टेस्ट भी किया गया जिस में वो पास हो गई थी पर एक्सपर्ट का मानना है कि ओसियन के अदंर हजारों प्रकार की ताकत सबमरीन पर पड़ती है जिसमें न सिर्फ प्रेसर बाल्की पानी का बहाव भी होता है। जो लहरों की वजह से ज्यादा होता है इसके अलावा अंधेरे की वजह से ये भी हो सकता है कि कोई भारी पत्थर या फिर कोई समदंरी मखलूक पनडुब्बी से टकराई हो।

क्या Missing Titan Submarine 2023 मे पहले से Crack थे?

कुछ भी हो टाइटन की तबाही की एक वजह तो इसका कॉर्बन फाइबर का बना बॉडी था लेकिन दूसरी वजह इस में पहले से मौजूद क्रैक भी था। टाइटन सबमरिन 2009 में एक कैल स्टैनली नामी बिजनेस मैन को भी लेकर गई थी और उस वक्त भी उसको ओशन गेट के सीईओ ही ऑपरेट कर रहे थे। कैल स्टैनली ने बताया कि उस सफर के दौरान जब हम लोग निचे जा रहे थे तो उनको टाइटन की बॉडी में से क्रैकिंग की आवाज सुनाई दी थी।

उस वक्त उन्हें इस आवाज पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया गया क्योंकि उनको ओशन गेट के सीईओ जिन्हों ने खुद ये सबमरिन डिजाइन किया था उन पर पूरा भरोसा था। लेकिन इस हादसे के बाद उन्होनें सीएनएन को बताया कि शायद वो आवाज़ इस बात की वार्निंग थी कि टाइटन कि बॉडी पानी का प्रेशर बर्दाश्त नहीं कर पा रही हो।

अगर ये बात सच है तो इस में कोई शक नहीं कि टाइटन की बॉडी मे क्रैक पड़ना पहले से ही शुरू हो गये थे।
2018 मे ओसियन गेट के एक एग्जीक्युटिव ने टाइटन कि कार्बन फाइबर बॉडी के खिलाफ आवाज़ उठाई थी
उनका कहना था कि ये मसला सबमरीन के फटने से कुछ मिली सेकंड पहले पता चला होगा। और हकीकत मे भी ऐसा ही हुआ जिस गहराई मे टाइटन फटी है एक्सपर्ट का कहना है कि उसको फटने मे सिर्फ 0.3 सेकंड लगे होंगे।

Conclusion

Missing Titan Submarine 2023 के गायब होने का राज़ दुनिया की कल्पना को मोहित कर रहा है। जैसा कि जांचकर्ता इस चौंकाने वाली घटना के पीछे की सच्चाई को उजागर करने के लिए अथक प्रयास कर रहे हैं। Missing Titan Submarine 2023 गायब होने के पीछे के कारण पहेलियों में डूबे हुए हैं। टाइटन पनडुब्बी का गायब होना अज्ञात सीमाओं में प्रवेश से जुड़े Latent जोखिमों और अनिश्चितताओं की एक स्पष्ट याद दिलाता है, जो मानवता को ब्रह्मांड के रहस्यों को समझने और उन पर विजय पाने के अपने प्रयासों को दोगुना करने के लिए मजबूर करता है।

What is Holi Festival and Why is it Celebrated? होली का त्यौहार कब और क्यों मनाया जाता है

Titanic को देखने के लिए कितने का टिकेट ख़रीदा?

Titan submersible पर बठने और टाइटैनिक को देखने के लिए 2 करोड़ रूपये की कीमत का टिकेट सिर्फ एक व्यक्ति के लिए है जोकि किसी आम व्यक्ति के लिए नामुमकिन हैं।

क्या Titan Submersible मे पहले से कोई खराबी थी?

कुछ भी हो टाइटन की तबाही की एक वजह तो इसका कॉर्बन फाइबर का बना बॉडी था लेकिन दूसरी वजह इस में पहले से मौजूद क्रैक भी था।

Leave a Comment